आपको एक क्लिक से मिल जाएगी भारतीय परिधानों की जानकारी

नई दिल्ली (ब्यूरो): हमारे देश में कई संस्कृतियां और वेशभूषाएं प्रचलित हैं। इन संस्कृतियों में लोग पहरावे को अपने-अपने हिसाब से पहनते हैं। पंजाब में कुर्ता पायजामा, पंजाबी सूट, दक्षिण भारत में लुंगी कुर्ता समेत बाकी परिधान मशहूर हैं। उत्तर भारत, दक्षिण भारत और पूर्वोत्तर भारत में वस्त्रों में काफी भिन्नता है। ये भिन्नता विभिन्न प्रदेशों के समारोहों में देखी जा सकती है। आइए विभिन्न परिधानों के बारे में जानते हैं:

साड़ी : साड़ी महिलाओं का लोकप्रिय पहनावा है। साड़ी परिधान में सिल्क साड़ी, बनारसी साड़ी, कांजीवरम साड़ी, गढ़वाल साड़ी प्रमुख है। बेहतरीन फैब्रिक से बनी साडिय़ां महिलाओं को काफी पसंद आती है। साड़ी में एक पूरा कपड़ा लपेटा जाता है और अंदर की तरफ ब्लाउज पहना जाता है। साड़ी को नैपकिन की मदद से रोकते है।

लहंगा: शादी या शादी के किसी भी फंक्शन के लिए लहंगा लड़कियों का फेवरेट ऑप्शन है। लहंगे की खासियत है कि ये अकेले ही आपके लुक को ग्रैंड और रॉयल बनाने के लिए काफी है। बनारसी साड़ी तो आपने अलग-अलग मौकों पर कई बार पहनी होगी, लेकिन पिछले कुछ समय से बनारसी लहंगे भी काफी ट्रेंड में हैं। बनारसी साड़ी का फैशन तो एवरग्रीन है ही वहीं इसके लंहगा का फैशन भी कभी पुराना नहीं होता है।

सलवार सूट : इसे सलवार कमीज भी कहते हैं। दक्षिण एशियाई देशों में सलवार कमीज पहनावा लोकप्रिय है। इस पहनावे में सलवार, कमीज और दुप्पटा आता है। सलवार कमीज पुरूषों और महिलाओं दोनों के लिए पहनावा है। बस सिलाई में भिन्नता होती है।

पटियाला सूट : पटियाला सलवार का एक प्रकार है। इसके साथ कमीज पहनी जाती है। पंजाब प्रांत में यह परिधान महिलाओं के बीच काफी लोकप्रिय है।

घाघरा चोली : महिलाओं का यह लोकप्रिय पहनावा भारत के ग्रामीण अंचल में पहना जाता है। खासकर गुजरात और राजस्थान जैसे राज्यों में घाघरा चोली फेमस है। लहंगा भी प्रसिद्ध है जो घाघरे की तरह ही होता है। लहंगा चोली विवाह उत्सवों के दौरान महिलाएं पहनती है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

- Advertisment -
iTree Network Solutions