पत्रकारों की जासूसी के खिलाफ राष्ट्रपति के नाम से डीसी को सौंपा ज्ञापन

– पेगासस स्पाइवेयर के माध्यम से पत्रकारों की हो रही जासूसी बंद हो
– पत्रकार भाईचारे ने केंद्र सरकार के खिलाफ की नारेबाजी
– कहा पत्रकारों की जासूसी करवाना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण

जालंधर:(pmn): 22 जुलाई | पेगासस स्पाइवेयर सॉफ्टवेयर के जरिए सच्चाई की आवाज उठाने वाले रोजाना पहिरेदार के एडिटर-इन-चीफ श्री जसपाल सिंह हेरां का मोबाइल फोन टैप करने के विरोध में राष्ट्रपति के नाम से माननीय उपायुक्त जालंधर श्री घनश्याम थोरी को ज्ञापन सौंपा गया। सभी पत्रकार संगठनों के प्रतिनिधि आज सुबह उपायुक्त कार्यालय के सामने बड़ी संख्या में एकत्र हुए। रोजाना पहरेदार के दोआबा जोन के ब्यूरो चीफ अमृतपाल सिंह ने कहा कि लोकतंत्र में प्रेस को चौथे स्तंभ के रूप में जाना जाता है। इसे भारत का सबसे प्रभावशाली और शक्तिशाली स्वतंत्र मीडिया माना जाता है। उन्होंने कहा कि जसपाल सिंह हेरां ने अपनी कलम से सिद्धांतक और विचारधारक सोच को बलपूर्वक पेश किया, इसके लिए वह बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि पेगासस के जरिए जासूसी करने का कृत्य बेहद निंदनीय है। उन्होंने इस मामले को देश के लोगों की निजी अधिकार और प्रेस की आजादी पर हमला बताया। इस मौके पर पेमा के वरिष्ठ सदस्य रमेश नायर, हरीश शर्मा, स्वदेश नंचहल, रवि गिल, अमनदीप सिंह जंगी, मैडम कीर्ति गिल, प्रवेश गिल, अभिनंदन भारती, पंजाब प्रेस क्लब एवं डीएमए के कई सदस्य, प्रेस एसोसिएशन ऑफ स्टेट के कई सदस्य, वर्किंग रिपोर्टर्स एसोसिएशन के सदस्य, जिनमें करमवीर सिंह के अलावा सौरभ खन्ना, जगरूप सिंह, दलबीर सिंह, रमेश भगत, इकबाल सिंह उभी, दीपक शर्मा और अन्य वरिष्ठ पत्रकार मौजूद थे। श्री सुखजीत सिंह द्रोली, जिला अध्यक्ष, शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर), जालंधर, श्री मंजीत सिंह रेरू (शहरी अध्यक्ष), श्री दर्शन सिंह, कलकत्ता के वरिष्ठ उपाध्यक्ष, श्री मंजीत सिंह विरदी और श्री गुरजीत सिंह ने समर्थन किया। पत्रकारों ने पेगासस मामले की जांच करवाने की मांग रखी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

- Advertisment -
iTree Network Solutions